HIGHLIGHTS

Get Daily Updates From CricToday

Subscribe and get the latest Sports News delivered to your inbox.

Email is required. Invalid email address.
समाचार क्रिकेट

डोनाल्ड ट्रंप ने सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली के बारे में क्या कहा? यहां पढ़ें

Akashdeep Singh Updated: 24 February, 2020, 5:27 PM IST

HIGHLIGHT

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम (सरदार पटेल स्टेडियम) में संबोधन के दौरान दिग्गज क्रिकेट सचिन तेंदुलकर और भारतीय कप्तान विराट कोहली का जिक्र किया. इसके साथ ही ट्रंप ने दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम यानी मोटेरा की भी जमकर तारीफ की.

ट्रंप के स्वागत में सरदार पटेल स्टेडियम अपनी क्षमता से भी ज्यादा भरा नजर आया. 1 लाख 10 हजार से अधिक की क्षमता वाले इस स्टेडियम को देख ट्रंप गदगद नजर आए. उन्होंने कहा, "आज हम दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमारा स्वागत किया, आज से भारत हमारे लिए सबसे अहम दोस्त होगा."

ट्रंप ने भारतीय क्रिकेट के सितारों का जिक्र करते हुए कहा कि भारत ने दुनिया को सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली जैसे बड़े खिलाड़ी दिए. सचिन और विराट का नाम लेते ही स्टेडियम में मौजूद लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से ट्रंप के इस संबोधन का स्वागत किया.

ट्रंप ने अपने भाषण के दौरान कहा, "पूरी दुनिया में लोग भारतीय फिल्मों, भांगड़ा और क्लासिकल फिल्म का लुत्फ लेते हैं जैसे डीडीएलजे और शोले. इसके अलावा भारत के पास विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर जैसे क्रिकेटर हैं. 125 हजार दिलों का इस स्टेडियम में धड़कना असली भारत की मजबूती है. अपने राष्ट्र को मजबूत बनाए रखें. वी लव यू इंडिया."

समाचार क्रिकेट

शाहिद अफरीदी का जहरीला बयान, कहा- नरेंद्र मोदी दोनों देशों के रिश्तों को तबाह कर रहा है 

Akashdeep Singh Updated: 24 February, 2020, 4:09 PM IST

HIGHLIGHT

भारत और पाकिस्तान के बीच आखिरी बार द्विपक्षीय सीरीज 2012 में खेली गई थी. दोनों टीमों के बीच मुकाबले में प्रशंसकों का उत्साह अपने चरम पर होता है. मगर लंबे वक्त से दोनों टीमों के बीच 7 साल से द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली गई है. पूर्व पाकिस्तानी कप्तान शाहिद अफरीदी ने दोनों टीमों के बीच सीरीज नहीं होने का जिम्मेदार भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ठहराया है.

भारत और पाकिस्तान के बीच लंबे वक्त से द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली गई. मगर जब भी मौका मिलता है तो दोनों देशों के खिलाड़ी इस मुद्दे पर अपनी राय रखते नजर आते हैं. अब पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने नरेंद्र मोदी के खिलाफ कहा, "मुझे नही लगता कि मोदी के सत्ता में रहते हमें भारत से कोई जवाब मिलेगा. हम अब मोदी की मानसिकता को समझ गए हैं. दोनों देशों की जनता ऐसा नहीं चाहती लेकिन एक आदमी दोनों देशों के रिश्तों को तबाह कर सकता है."

पाकिस्तान प्रीमियर लीग का पाकिस्तान में आयोजन होने पर खुशी जताते हुए अफरीदी ने कहा, "मेरे लिए पीएसएल का पाकिस्तान लौटना बहुत बड़ी बात है. हमने देखा कि श्रीलंका, बांग्लादेश, विश्व एकादश की टीमें पाकिस्तान आईं. क्रिकेट पाकिस्तान लौटेगा. हमें इसके पूरी तरह से लौटने की पूरी उम्मीद है. पीएसएल को पाकिस्तान में कराना बहुत बड़ी उपलब्धि है." बता दें कि पाकिस्तान सुपर लीग की शुरुआत 2015 में हुई थी, अब इसका छठवां सीजन 20 फरवरी से शुरु हुआ है. पहली बार लीग की मेजबानी पाकिस्तान कर रहा है.

समाचार क्रिकेट

बटलर-स्मिथ के साथ इन 5 बल्लेबाजों पर निर्भर करेगी राजस्थान रॉयल्स की किस्मत  

Akashdeep Singh Updated: 24 February, 2020, 3:31 PM IST

HIGHLIGHT

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के पहले सीजन की विजेता राजस्थान रॉयल्स दूसरी ट्रॉफी जीतने को बेताब है. मार्च 29 से शुरू हो रहे आईपीएल के 13वें सीजन में राजस्थान इसी इरादे के साथ उतरेगी. पिछले कई सीजन की तरह राजस्थान इस सीजन में भी अपनी बल्लेबाजी पर ही निर्भर होगी. राजस्थान की बल्लेबाजी में कई बड़े नाम शामिल हैं. जैसे कि स्टीव स्मिथ, बेन स्टोक्स और जोस बटलर. इसके अलावा उनके पास अच्छे भारतीय बल्लेबाजों की भी लंबी लिस्ट है, जिसमें संजू सैमसन, रॉबिन उथप्पा, यशस्वी जायसवाल और रियान पराग मुख्य हैं.

राजस्थान ने इस सीजन के ऑक्शन में यशस्वी जायसवाल, डेविड मिलर और रॉबिन उथप्पा को खरीदकर अपनी बल्लेबाजी और मजबूत की है. राजस्थान की टीम अपना पहला मुकाबला 2 अप्रैल को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ चेन्नई में खेलेगी. राजस्थान की टीम जयपुर में मेजबानी करने के साथ ही कुछ मुकाबलों की मेजबानी गुवाहाटी में भी करेगी. हालांकि मैदान कोई भी हो राजस्थान के सभी प्रशंसकों की नजर एक बार अपने स्टार बल्लेबाजों पर ही होंगी.

 

राजस्थान रॉयल्स के ये पांच स्टार बल्लेबाज करेंगे विपक्षी गेंदबाजों को परेशान-

1. स्टीव स्मिथ

राजस्थान रॉयल्स के कप्तान व उनके बेस्ट बल्लेबाज स्टीव स्मिथ अपना नेचुरल खेल जारी रखना चाहेंगे. वह बैन के बाद से शानदार फॉर्म में हैं और उसे ही आगे बढ़ाना चाहेंगे. पिछले सीजन में स्मिथ का प्रदर्शन औसत था, जहां उन्होंने 12 मैच में 39.87 की औसत से 319 रन बनाए थे. वह इस सीजन में अपने प्रदर्शन को सुधारते हुए टीम को आगे से लीड करना चाहेंगे.

आईपीएल में स्मिथ का औसत 37.44 का है. वहीं उनका स्ट्राइक रेट 128.95 का है. हालांकि स्मिथ अपने इन आंकड़ो को आने वाले सीजन में और बेहतर करना चाहेंगे. फैंस को भी स्मिथ से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी.

2. जोस बटलर

बटलर ने पिछले सीजन में सिर्फ 8 मुकाबले खेले थे, जिसमें उन्होंने 151.70 की स्ट्राइक रेट से 311 रन बनाए थे. आईपीएल का 2018 सीजन बटलर के लिए बहुत ही बेहतरीन रहा था, जहां उन्होंने 13 मैच में 54.80 की औसत और 155.24 की स्ट्राइक रेट से 548 रन बनाए थे. उस सीजन में उनके पांच अर्धशतक थे. बटलर एक बार फिर अपने 2018 वाले प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे.

बटलर राजस्थान के लिए ओपनिंग करते हैं और सलामी बल्लेबाज के ऊपर टीम को अच्छी शुरुआत दिलाने की जिम्मेदारी होती है. ये तो सभी जानते हैं कि अपने दम पर किसी भी मुकाबले को पलटने का दम रखते हैं. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ऐसा कई दफे करके दिखाया भी है.

3. संजू सैमसन 

विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन भले ही टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए जूझ रहे हों. लेकिन उनका आईपीएल प्रदर्शन हर सीजन में जबरदस्त रहता है. संजू ने 2018 में 441 और 2019 में राजस्थान के लिए 342 रन बनाए थे. बता दें कि 25 वर्षीय संजू सैमसन के नाम आईपीएल में दो शतक हैं. इसके अलावा वह लिस्ट ए क्रिकेट में दोहरा शतक भी लगा चुके हैं.

संजू ने बार-बार आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन कर चयनकर्ताओं को प्रभावित किया है. हालांकि लंबे समय बाद हाल ही में टीम इंडिया में मौका पाने पर वह सही से उसे भुना नहीं सके थे. अभी भी संजू के पास टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में जगह बनाने का मौका है, लेकिन इसके लिए उन्हें आईपीएल में बहुत अच्छा प्रदर्शन करना होगा.

4. रॉबिन उथप्पा

रॉबिन उथप्पा आईपीएल के सबसे वरिष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं. उन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स को अपने बलबूते कई मुकाबले जिताए हैं. उथप्पा ने 177 आईपीएल मुकाबलों में हिस्सा लिया है. जिसमें उन्होंने 24 अर्धशतकों की मदद से 4411 रन बनाए हैं. आईपीएल में वह 8वें नंबर पर सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. आईपीएल में उनका प्रदर्शन काफी निरंतर रहा है. इसी वजह से राजस्थान ने इस सीजन की नीलामी में उन्हें तीन करोड़ रुपये में खरीदा.

उथप्पा से एक बार फिर उनकी टीम को संभली हुई शुरुआत की उम्मीद होगी. वह जोस बटलर के साथ राजस्थान की सलामी जोड़ी बना सकते है.

5. बेन स्टोक्स

2019 के ICC प्लेयर ऑफ द ईयर और इंग्लैंड को विश्व कप विजेता बनाने वाले करिश्माई हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स से राजस्थान को करिश्माई प्रदर्शन की उम्मीद होगी. पिछले सीजन में वह बहुत ही बुरे फॉर्म से गुजरे थे. हालांकि उसके बाद से वह बहुत ही गजब फॉर्म में हैं. वह जिस भी फॉर्मेट में खेल रहे हैं. इंग्लैंड को जीत दिला रहे हैं.

स्टोक्स ने पिछले सीजन में 9 मुकाबलों में सिर्फ 123 रन ही बनाए थे. इसके अलावा उन्होंने गेंदबाजी में सिर्फ 6 विकेट झटके थे. हालांकि आईपीएल में वह शतक भी लगा चुके हैं. राजस्थान की टीम यही चाहेगी कि वह अच्छी लय में रहें और मैच जिताऊ प्रदर्शन करें. वह निचले क्रम में बल्लेबाजी करते नजर आएंगे और वहां से वह राजस्थान को कठिन परिस्थितियों में कई मुकाबले जिता सकते हैं.

राजस्थान रॉयल्स की पिछले सीजन में 7वें नंबर पर रही थी. 2020 में वह अपने प्रदर्शन में सुधार करते हुए प्ले-ऑफ में जगह बनाना चाहेगी. राजस्थान के पास मजबूत बल्लेबाजी लाइन-अप है, जिसमें अनुभवी खिलाड़ियों के साथ यशस्वी जायसवाल जैसे युवा बल्लेबाज भी हैं. हालांकि जोफ्रा आर्चर के टूर्नामेंट से पहले चोटिल हो जाने के कारण टीम को बड़ा झटका लगा है.

समाचार क्रिकेट

उधर वेलिंग्टन में बुरी तरह हारी टीम इंडिया, इधर शिखर धवन ने पूछा- कितने बॉलर थे?  

Akashdeep Singh Updated: 24 February, 2020, 1:06 PM IST

HIGHLIGHT

फॉर्म के चलते टेस्ट से और चोट के चलते सीमित ओवर टीम से बाहर चल रहे शिखर धवन इस समय रिकवरी के साथ छुट्टियां मना रहे हैं. हालांकि धवन अब वापसी को पूरी तरह तैयार हैं. इसका ऐलान उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक शानदार पोस्ट के साथ किया है. धवन ने घोड़े पर सवार होकर एक तस्वीर साझा की है, जिसमें उन्होंने मजेदार कैप्शन दिया है. उन्होंने लिखा- 'कितने बॉलर थे? गब्बर इज बैक.' बता दें कि शिखर ने भारत के लिए आखिरी मुकाबला ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था. 19 जनवरी को हुए इस ODI मुकाबले में धवन फील्डिंग के दौरान चोटिल हो गए थे और बल्लेबाजी पर नहीं उतरे थे.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Kitne bowler they? #Gabbar is back 😎👊🏼

A post shared by Shikhar Dhawan (@shikhardofficial) on

इसी चोट के चलते धवन को न्यूजीलैंड दौरे के लिए टीम इंडिया में जगह नहीं मिली. उनकी जगह न्यूजीलैंड दौरे पर पांच मैच की टी20 सीरीज के लिए संजू सैमसन और तीन ODI के लिए पृथ्वी शॉ को भारतीय टीम में शामिल किया गया था.

बता दें कि BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने एशिया XI और वर्ल्ड XI के बीच होने वाली दो टी20 मैच की सीरीज के लिए भारत की और से धवन का भी नाम भेजा है. धवन इसी मुकाबले के जरिए मैदान पर वापसी करते दिख सकते हैं. गांगुली ने धवन के अलावा विराट कोहली, मोहम्मद शमी और कुलदीप यादव का नाम भी भेजा है. BCB बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीबर रहमान की 100वीं वर्षगांठ पर एशिया XI और वर्ल्ड XI के बीच ढाका में शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम में दो टी20 मैच का आयोजन 18 और 21 मार्च को करा रही है. इन दो मैच को ICC ने अंतरराष्ट्रीय मैच का दर्जा दिया है.

समाचार क्रिकेट

इस खिलाड़ी को नहीं खिलाया इसलिए हारी टीम इंडिया, अब अगले टेस्ट में ही खिला लो!  

Akashdeep Singh Updated: 24 February, 2020, 12:16 PM IST

HIGHLIGHT

पहले टेस्ट में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार के बाद भारतीय टीम अगले मैच के लिए टीम में बदलाव करने पर विचार कर सकती है. दूसरा व सीरीज का अंतिम टेस्ट मुकाबला शनिवार से क्राइस्टचर्च के हेग्ले ओवल मैदान पर खेला जाएगा. हालांकि भारतीय कप्तान विराट कोहली का कहना है कि वह अपने खिलाड़ियों पर अधिक दबाव नहीं डाल सकते. बता दें कि भारतीय बल्लेबाजी पहले टेस्ट की दोनों पारियों में 200 का आंकड़ा नहीं पार कर सकी थी. न्यूजीलैंड के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी स्कॉट स्टायरिस ने रविवार को कहा कि भारतीय टीम को अपनी बल्लेबाजी मजबूत करने के लिए अगले टेस्ट में शुभमन गिल को शामिल करना चाहिए.

स्टार स्पोर्ट्स पर मैच के बाद चर्चा में स्कॉट स्टायरिस ने मयंती लैंगर और संजय मांजरेकर से बात करते हुए कहा, "मैं वर्तमान में और पहले भी एक-दो साल से शुभमन गिल का पक्ष लेता आया हूं. मेरे मुतबाक वह विशेष टैलेंट है और उसको बिना कारण टीम से बाहर रखा जा रहा है. मुझे लगता है कि वह विराट कोहली के साथ अगले 10 साल के लिए भारतीय बल्लेबाजी का मुख्य आधार बन सकता है. मुझे नहीं पता कि क्या वो भी ऐसा सोचते हैं, मैं तो उन्हें टीम में जरूर रखता."

न्यूजीलैंड के पूर्व खिलाड़ी ने ये माना कि इस बात का निर्णय ले पाना कि कठिन है कि शुभमन को किस स्थान पर खिलाया जाए. स्टायरिस ने कहा, "भारत और ऑस्ट्रेलिया ज्यादातर अपने नए खिलाड़ी को नंबर छह पर लेकर आते हैं. भारत के पास ये एक विकल्प है. वो पृथ्वी से कह सकते हैं- आप युवा हैं, हम आपके की तरफ अलग परिस्थिति में दोबारा देखेंगे. विहारी को ऊपर खिलाकर शुभमन को छह पर खिला सकते हैं. या फिर उनको ऊपर ही बल्लेबाजी करा सकते हैं, जहां वह किया करते हैं."

पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर भी इस बात से इत्तेफाक रखते नजर आए. उन्होंने कहा, "जैसा मैंने कोहली को बोलते हुए सुना है, वह पृथ्वी शॉ को और मौका देंगे. ये मुश्किल निर्णय होगा, लेकिन ये सिर्फ दो मैच की सीरीज है. इसलिए शुभमन गिल को हनुमा विहारी की जगह लाया जा सकता है. ये विहारी के साथ गलत होगा, क्योंकि उन्होंने वेस्टइंडीज में शतकीय पारी खेली थी."

इसके अलावा मांजरेकर ने ये भी कहा कि कोहली रविचंद्रन अश्विन की जगह रवींद्र जडेजा को खिला सकते हैं. मांजरेकर के मुताबिक अश्विन की बल्लेबाजी में गिराव आया है, जबकि जडेजा की बल्लेबाजी पहले से बेहतर हुई है, इस लिहाज से अगले टेस्ट में जडेजा को मौका मिल सकता है.

समाचार क्रिकेट

ODI सीरीज के बाद पहला टेस्ट गंवाने वाली टीम इंडिया के लिए खुशखबरी, कल वापसी करेंगे हार्दिक  

Akashdeep Singh Updated: 24 February, 2020, 10:43 AM IST

HIGHLIGHT

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले ODI और फिर पहले टेस्ट में मिली हार के बाद टीम इंडिया के लिए एक अच्छी खबर आई है. ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या पांच महीने बाद लोअर बैक इंजरी से उभरकर मैदान पर वापसी करने के लिए तैयार हैं. चोट के चलते पांड्या को लोअर बैक की लंदन में सर्जरी भी करवानी पड़ी थी. उनको भारतीय क्रिकेट टीम के फिजियो ने इसकी राय दी थी.  

भारतीय टीम न्यूजीलैंड में संघर्ष कर रही है और टी20 वर्ल्ड कप में भारत को हार्दिक की जरूरत भी है, ऐसे में उनकी वापसी टीम इंडिया के लिए एक अच्छी खबर है. लोअर बैक इंजरी के पांच महीने बाद ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या मैदान पर वापसी करने वाले हैं. 26 वर्षीय हरफनमौला खिलाड़ी डीवाई पाटिल टी20 टूर्नामेंट में रिलायंस वन के लिए खेलता हुआ नजर आएगा. इस टूर्नामेंट में हार्दिक तीन मैच खेलेंगे जो 25 फरवरी से शुरू होंगे.

एक सूत्र ने इस बात की पुष्टि की, "हां, उनका नाम रिलायंस वन टीम में शामिल है. वह डीवाई टूर्नामेंट में खेलेंगे. बस राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA), जहां वह चोट से उबर रहे हैं, उन्हें रिलीज कर दे." पांड्या ने भारत के लिए आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच साउथ अफ्रीका के खिलाफ पिछले साल 22 सितंबर को बेंगलुरु में खेला था.

खबर है कि राष्ट्रीय चयनकर्ता पांड्या की प्रगति देखने के लिए डीवाई पाटिल स्टेडियम पहुंच सकते हैं. अगर पांड्या, जिन्होंने 11 टेस्ट, 54 ODI और 40 टी20 अंतरराष्ट्रीय खेले हैं, अपनी फिटनेस साबित कर देते हैं तो साउथ अफ्रीका के खिलाफ 12 मार्च से शुरू हो रही ODI सीरीज के लिए उनका चयन हो सकता है.

समाचार क्रिकेट

20 विकेट गंवाकर सिर्फ 356 रन बनाने पर कप्तान विराट कोहली ने क्या कहा?  

Akashdeep Singh Updated: 24 February, 2020, 10:10 AM IST

HIGHLIGHT

टीम इंडिया को वेलिंग्टन के बेसिन रिजर्व स्टेडियम में खेले गए पहले टेस्ट मुकाबले में न्यूजीलैंड के हाथों महज चार दिन में 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा. टीम के ख़राब प्रदर्शन के साथ ही कप्तान विराट कोहली खुद भी अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे. इस जीत के साथ ही न्यूजीलैंड ने दो मैच की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है. इस मुकाबले में भारतीय बल्लेबाज इस कदर फेल रहे कि दोनों पारियों में मिलकर महज 356 रन ही बना सके.

कप्तान विराट ने बल्लेबाजों के प्रदर्शन पर कहा, "इस करारी हार के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि हम इस मैच में बिल्कुल भी लड़ाई नहीं कर पाए. अगर हम कीवी टीम के सामने 220-230 का लक्ष्य रखते तो बेहतर होता. कोहली ने कहा क‍ि भारतीय टीम अगले मैच में अच्‍छा प्रदर्शन करेगी."

व‍िराट ने मैच गंवाने के बाद कहा, पहले द‍िन हमारी बल्‍लेबाजी बेहद खराब रही और इस कारण हम मुकाबले में पीछे रहे. उन्‍होंने गेंदबाजों के प्रदर्शन का एक तरह से बचाव करते हुए इस बात को माना क‍ि न्‍यूजीलैंड के न‍िचले क्रम के बल्‍लेबाजों ने जो 120 रन जोड़े, वे हमारे ल‍िए घातक साब‍ित हुए. न्‍यूजीलैंड की पहली पारी के दौरान एक समय भारत ने न्‍यूजीलैंड के छह व‍िकेट 216 रन पर ग‍िरा द‍िए थे लेक‍िन पुछल्‍ले बल्‍लेबाजों के अच्‍छे प्रदर्शन की बदौलत मेजबान टीम पहली पारी में 348 रन तक पहुंचने में कामयाब हो गई. हार के बावजूद कोहली ने उम्‍मीद जताई क‍ि इस प्रदर्शन को भुलाते हुए भारतीय टीम अगले मैच में अच्‍छा प्रदर्शन करेगी.

न्‍यूजीलैंड के कप्‍तान केन व‍िल‍ियमसन ने इस बात पर खुशी जताई क‍ि प्‍लेयर्स के शानदार प्रदर्शन की बदौलत टीम 100वीं टेस्‍ट जीत हास‍िल करने में सफल रही. उन्‍होंने इस जीत को प्‍लेयर्स के लगातार चार द‍िन के शानदार प्रदर्शन का पर‍िणाम माना. व‍िल‍ियमसन ने कहा क‍ि भारतीय टीम बेहतरीन है और उसके ख‍िलाफ जीत हास‍िल करना बड़ी बात है. मैच में 9 व‍िकेट लेने वाले न्‍यूजीलैंड के तेज गेंदबाज ट‍िम साउदी को मैन ऑफ द मैच घोष‍ित क‍िया गया. साउदी ने कहा, "मुझे इस बात की खुशी है क‍ि हमने मुकाबले को अपने नाम क‍िया."

वेल‍िंगटन के बेस‍िन र‍िजर्व व‍िकेट के बारे में उन्‍होंने कहा क‍ि प‍िच शुरुआत में अच्‍छा काम कर रही थी और गेंदबाजों को मदद दे रही थी लेक‍िन समय गुजरने के साथ-साथ इससे स्‍व‍िंग खत्‍म होते होती जा रही थी. साउदी ने कहा क‍ि इस जीत से हमें काफी आत्‍मव‍िश्‍वास म‍िला और इसी के साथ हम अगले टेस्‍ट मैच में उतरेंगे.

फ़ीचर क्रिकेट

IPL 2020 - सनराइजर्स हैदराबाद के ये 5 बल्लेबाज विपक्षियों के खिलाफ करेंगे बड़ा विस्फोट! 

Shadab Ali Updated: 22 February, 2020, 4:39 PM IST

HIGHLIGHT

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के रंगारंग कार्यक्रम इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का काउंटडाउन शुरू हो चुका है. आईपीएल की शुरुआत 29 मार्च से होगी, जबकि इसका समापन 24 मई को हो जाएगा. इसके लिए सभी आठ फ्रेंचाइजीस ने अपनी-अपनी कमर कस ली है. फिलहाल, आज हम सराइजर्स हैदराबाद फ्रेंचाजी के उन पांच बल्लेबाजों पर नज़र डालेंगे, जो आगामी संस्करण में धमाकेदार प्रदर्शन कर अपनी टीम को चैंपियन बना सकते हैं.

आपको बता दें कि हैदराबाद (डेक्कन चारजर्स) ने साल 2009 में आईपीएल का खिताब अपने नाम किया था. यह आईपीएल का दूसरा संस्करण था. इसके बाद से अब तक हैदराबाद ने कोई भी आईपीएल टाइटल नहीं जीता है. इस टीम में हमेशा विश्वस्तरीय खिलाड़ियों का जमावड़ा रहा है. SRH में इस बार भी कई मैच विनर प्लेयर्स शामिल हैं. तो कौन हैं वे 5 बल्लेबाज, जो साबित हो सकते हैं IPL 2020 में अपनी टीम के लिए मैच विनर -

डेविड वॉर्नर - ऑस्ट्रेलियाई धाकड़ सलामी बल्लेबाज वॉर्नर ने पिछले संस्करण में काबिल ए तारीफ प्रदर्शन किया था. उन्होंने 12 मुकाबलों में 692 रन बनाए थे, जिसमें 8 अर्धशतक और एक शतक शामिल था. वॉर्नर ने अभी तक 126 मुकाबलों में 4706 रन बटोरे हैं, जिसमें उन्होंने 4 शतक और 44 अर्धशतक जड़े हैं. इस दौरान उनका औसत 43.17 का, स्ट्राइक रेट 142.39 का और उच्चतम स्कोर 126 रन रहा है. वॉर्नर ने बॉल टेंपरिंग का प्रतिबंध झेलने के बाद शानदार वापसी की है. हैदराबाद में उनकी मौजूदगी इस बार भी विपक्षियों को परेशान करेगी.

जॉनी बेयरस्टो - इंग्लैंड के इस विस्फोटक विकेटकीपर बल्लेबाज ने पिछले कुछ समय में कई बड़ी पारियां खेली हैं. अंग्रेजी खिलाड़ी ने पिछले संस्करण में अपना आईपीएल डेब्यू किया था. उन्होंने 10 मैचों में 445 रन बनाए थे, जिसमें 2 अर्धशतक और 1 शतक शामिल था. उनका औसत 55.62 का और स्ट्राइक रेट लगभग 158 का रहा. बेयरस्टो इंग्लैंड की टीम के एक महत्वपूर्ण सदस्य हैं. ऐसे में उनका SRH की टीम में शामिल होना इस फ्रेंचाइजी को आगामी संस्करण में मजबूत बनाएगा. बेयरस्टो की मौजूदगी में हैदराबाद की बल्लेबाजी को और मजबूती मिलेगी.

मनीष पांडे - भारतीय टीम के स्टार बल्लेबाज मनीष पांडे ने आईपीएल में अब तक शानदार प्रदर्शन किया है. उन्होंने 130 मुकाबलों में 29.30 के औसत और 120.82 के स्ट्राइक रेट से 2843 रन बनाए हैं. इसमें पांडे ने 15 अर्धशतक और 1 शतक जड़ा है. इस दौरान पांडे का उच्चतम व्यक्तिगत स्कोर 114* रन नाबाद रहा है. दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने पिछले संस्करण में 12 मुकाबलों में 344 बटोरे थे. मनीष इस बार भी शानदार बल्लेबाजी कर अपनी टीम को जीत दिलाना चाहेंगे. उनके टीम में होने से टीम के मध्यक्रम को बेहद मजबूती मिलेगी.

प्रियम गर्ग - युवा क्रिकेटर ने अभी तक आईपीएल में डेब्यू नहीं किया है. प्रियम गर्ग की कप्तानी में भारतीय अंडर-19 टीम ने विश्व कप 2020 का फाइनल खेला था, जिसमें उन्हें बांग्लादेश के खिलाफ हार झेलनी पड़ी थी. बता दें कि प्रियम के पिता स्कूल वैन चलाते हैं और उन्होंने यही काम करके अपने बेटे के सपनों को नई उड़ान भी दी. मेरठ जिले से 25 किलोमीटर दूर गांव किला परीक्षित गढ़ में रहने वाले प्रियम कक्षा 10 के छात्र हैं. प्रियम गर्ग मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को अपना आदर्श मानते हैं. गर्ग ने विश्व कप से पहले 11 फर्स्ट क्लास मैचों में 67.83 के बेहतरीन औसत से 814 रन बनाए थे, जिसमें दो दोहरे शतक शामिल रहे. प्रियम गर्ग उन चंद क्रिकेटरों में शामिल हैं, जो अंडर 14, अंडर 16 और रणजी ट्रॉफी में 2-2 दोहरे शतक ठोंक चुके हैं. प्रियम SRH के लिए भी मैच विनर खिलाड़ी साबित हो सकते हैं.

विजय शंकर - भारतीय टीम के स्टार ऑलराउंडर विजय शंकर का पिछले कुछ दिनों में प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा है. अगर उनके अब तक के आईपीएल के प्रदर्शन पर नज़र डालें तो उन्होंने अभी तक 33 मचों में 557 रन बनाए हैं, जिसमें 2 अर्धशतक भी शामिल हैं. साथ ही उन्होंने महज 2 विकेट झटके हैं. वर्ल्‍ड कप 2019 के लिए, जब टीम इंडिया का ऐलान किया गया था तब विजय शंकर को उस समय के मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने 3D खिलाड़ी बताया था. विजय शंकर को अंबाती रायुडू पर तरजीह दी गई थी. अब यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि शंकर आगामी संस्करण में अपनी टीम के लिए कैसा प्रदर्शन करते हैं.

समाचार क्रिकेट

टिम साउदी ने कहा- खतरनाक पंत का रन आउट होना भारतीय पारी का टर्निंग पॉइंट था

Akashdeep Singh Updated: 22 February, 2020, 4:23 PM IST

HIGHLIGHT

वेलिंग्टन में खेले जा रहे टेस्ट की पहली पारी में भारत को चार झटके देने वाले कीवी तेज गेंदबाज टिम साउदी का मानना है कि ऋषभ पंत का रन आउट होना भारतीय पारी का टर्निंग प्वॉइंट था. उनका कहना है कि पंत के रन आउट हो जाने के कारण ही वह शनिवार को भारतीय पारी को 165 रन पर समेटने में कामयाब रहे.

पंत ने दिन की शुरुआत पहले ओवर में छक्के के साथ की थी. लेकिन अजिंक्य रहाणे के चलते वह 19 रन बनाकर आउट हो गए. इसके बाद भारत ने 33 रन के अंदर पांच विकेट गंवा दिए.

पंत के आउट होने के बाद रहाणे भी साउदी की गेंद पर विकेट के पीछे कैच देकर आउट हो गए. साउदी से पूछा गया कि क्या रहाणे को आउट करने के लिए उनकी कोई खास रणनीति थी, तो उन्होंने कहा, "नहीं. आज सुबह पंत का रन आउट सबसे अहम रहा. वह खतरनाक बल्लेबाज है और जिंक्स के साथ मिलकर तेजी से रन बना सकते थे. हम जानते थे कि अगर हम एक छोर से विकेट हासिल करते हैं तो फिर जिंक्स थोड़ा आक्रामक होकर खेलने की कोशिश करेंगे और इससे हमारे लिए मौके बनेंगे."

साउदी ने आगे कहा, "हमने आज सुबह बहुत अच्छी गेंदबाजी की. सुबह दो खतरनाक खिलाड़ियों को आउट करना और इस तरह से उसकी पारी जल्दी समाप्त करना बहुत अच्छा रहा." भारतीय टीम 165 रन पर ऑल-आउट हो गई. काइल जेमिसन और टिम साउदी ने 4-4 विकेट लिए. दूसरे दिन के खेल की समाप्ति पर न्यूजीलैंड ने 5 विकेट के नुकसान पर 216 रन बनाकर 51 रन की बढ़त ले ली है.

समाचार क्रिकेट

दो दिन से सोए नहीं हैं इशांत शर्मा, फिर भी कोहली-शास्त्री ने खेलने को किया मजबूर

Akashdeep Singh Updated: 22 February, 2020, 3:39 PM IST

HIGHLIGHT

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने न्यूजीलैंड के खिलाफ शानदार गेंदबाजी करते हुए दूसरे दिन के खेल की समाप्ति से पहले तीन विकेट चटकाए. इशांत ने 15 ओवर गेंदबाजी करते हुए 6 ओवर मेडेन फेंके और 31 रन खर्चते हुए 3 विकेट झटके. इशांत बड़े अंतर से दूसरे दिन टीम के बेस्ट गेंदबाज थे. इशांत के इस प्रदर्शन के दम पर न्यूजीलैंड की टीम ने 216 रन पर 5 विकेट गंवा दिए. हालांकि न्यूजीलैंड ने भारत (165 ऑल-आउट) पर 51 रन की बढ़त ले ली है.

शानदार प्रदर्शन करने के बाद इशांत काफी थके हुए नजर आए. पत्रकारों से इशांत ने इसकी वजह बताते हुए कहा कि वह न्यूजीलैंड में सो नहीं पा रहे हैं और पिछले दो दिनों में उन्हें चार घंटे ही नींद आई है. उन्होंने कहा, "मैं दो दिन से सोया नहीं हूं और आज काफी थकान लग रही थी. मैं जैसे गेंदबाजी करना चाहता था, वैसे कर नहीं पाया हूं. मुझे खेलने के लिए कहा गया और मैं खेला, टीम के लिए कुछ भी कर सकता हूं."

बता दें तीन हफ्ते पहले इशांत रणजी ट्रॉफी के एक मुकाबले में चोट लगने के कारण इस श्रृंखला से लगभग बाहर ही हो चुके थे, लेकिन 24 घंटे का सफर करके यहां पहले टेस्ट से ठीक 72 घंटे पहले पहुंचे.

इशांत ने कहा कि वो अपनी गेंदबाजी से तो खुश हैं लेकिन शरीर से नहीं. उन्होंने कहा, "ऐसा नहीं है कि मैं अपनी गेंदबाजी से खुश नहीं हूं. मैं अपने शरीर से खुश नहीं था क्योंकि पिछली रात मैं 40 मिनट ही सो सका था. टेस्ट मैच से पहले मैं तीन घंटे ही सो पाया." ईशांत ने आगे कहा, "सफर की थकान से जल्दी उबरने से आप मैदान पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं. अच्छी नींद से बेहतर रिकवरी कुछ नहीं है."

इशांत ने चोट से उभरने में उनकी मदद करने के लिए NCA को शुक्रिया कहा. उन्होंने कहा, "सारा श्रेय NCA के सहयोगी स्टाफ को जाता है, जिन्होंने काफी मेहनत की. हमें लगा नहीं था कि मैं टेस्ट खेल सकूंगा क्योंकि चोट ही ऐसी थी. मैंने सोचा कि अगर खेल सका तो खेलूंगा वरना क्या कर सकते हैं, अगर चोट लगनी ही है तो आप टॉयलेट में भी गिर सकते हैं. मैने NCA पर दो दिन में 21 ओवर डाले और तभी मुझे लगा कि मैं खेल सकता हूं और इतना लंबा सफर करके यहां आने से हालांकि काफी थकान हो गई."

फ़ीचर क्रिकेट

जब ढेरों भारतीय क्रिकेटर आईपीएल में लाखों-करोड़ों कमा रहे होंगे, पुजारा इंग्लैंड में अपनी बल्लेबाजी और निखारेंगे

CT Contributor Updated: 22 February, 2020, 3:05 PM IST

HIGHLIGHT

एक ऐसे समय में जबकि भारत में क्रिकेट की खबरों पर 29 मार्च से शुरू होने वाली आईपीएल की खबरें हावी होने लगी हैं, अचानक ही बिल्कुल अलग तरह की खबर आई। मिडिल ऑर्डर के इस समय के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक चेतेश्वर पुजारा इस साल के काउंटी चैंपियनशिप सीजन में ग्लूस्टरशायर काउंटी के लिए खेलेंगे। पुजारा का कॉन्ट्रैक्ट सीजन के पहले 6 चैंपियनशिप मैच का है। काउंटी के लिए आखिरी 6 चैंपियनशिप मैच अफगानिस्तान के कैस अहमद खेलेंगे। ब्लास्ट के टी20 मैच भी वे ही खेलेंगे।

इधर, भारत में ढेरों मशहूर और यहां तक कि अंडर 19 क्रिकेटर भी जब आईपीएल के ग्लैमर में लाखों-करोड़ों कमा रहे होंगे, पुजारा अप्रैल के पहले हफ्ते में इंग्लैंड पहुंच जाएंगे और 12 अप्रैल से काउंटी के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट वाले चैंपियनशिप मैचों में खेलना शुरू कर देंगे। अप्रैल से यार्कशायर, 19 अप्रैल से लेंकशायर, 25 अप्रैल से कैंट, 1 मई से समरसैट, 8 मई से एसैक्स और 22 मई से सरे के विरूद्ध मैचों में खेलेंगे।

पुजारा लाल गेंद वाली क्रिकेट के टॉप बल्लेबाज हैं और इसका सबूत है उनका 75 टेस्ट में 79.48 औरत से 18 स्कोर 100 वाले बना कर 5740 रन का रिकॉर्ड। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में रिकॉर्ड 200 मैच में 53.99 औसत से 15605 रन है और भारत के उन गिने चुने बल्लेबाजों में से एक जिनके नाम 100 वाले 50 स्कोर हैं। पुजारा पर तो लाल गेंद वाली क्रिकेट के विशेषज्ञ का ऐसा लेबल लगा कि आईपीएल के भारत में होने के बावजूद कोई आईपीएल टीम उन पर पैसा नहीं लगाती।

जिन क्रिकेटरों के पास आईपीएल कॉन्ट्रैक्ट नहीं उनमें सबसे बड़ा नाम पुजारा का है। क्यों नहीं होगी उनमें इससे निराशा? बहरहाल, पुजारा अपनी निराशा के डिप्रेशन में आने की जगह, फुर्सत का फायदा उठाकर अपनी बल्लेबाजी को निखारते हैं इंग्लैंड में। वे पिछले कुछ सालों के काउंटी क्रिकेट में खेलने वाले भारत के सबसे व्यस्त क्रिकेटर रहे हैं। ये वहां उनका पांचवां सीजन होगा। इससे पहले 2014 में डर्बीशायर 2015 और 2018 में यार्कशायर तथा 2017 में नॉटिंघमशायर के लिए खेल चुके हैं। पिछला सीजन हालांकि उनके लिए कोई खास रिकॉर्ड वाला नहीं रहा था (12 पारी में सिर्फ 172 रन), फिर भी वे नया काउंटी कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने में कामयाब रहे।

ग्लूस्टरशायर के लिए 2020 का सीजन बड़ा खास है क्योंकि वे 10 से भी ज्यादा साल के बाद चैंपियनशिप में फर्स्ट डिवीजन में खेल रहे हैं (यानि कि टॉप 9 टीम में से एक) और उनकी कोशिश रहेगी कि टॉप 9 में ही रहें। इसके लिए बेहतर क्रिकेट खेलनी होगी और टीम के कोच रिचर्ड डोसन को उम्मीद है कि पुजारा इसमें मदद करेंगे।

ग्लूस्टरशायर के लिए खेलने वाले वे भारत के सिर्फ दूसरे क्रिकेटर हैं (पहले: जवागल श्रीनाथ)। अगर इस समय की ग्लूस्टरशायर की लाइनअप देखें तो उसमें कोई बड़ा या मशहूर खिलाड़ी नहीं है। इसीलिए उनके लिए पुजारा एक बड़ा नाम हैं। पुजारा के लिए भी गर्मियों में क्रिकेट के बिना, भारत में दिन बिताने से कहीं बेहतर है, इंग्लैंड में चुनौती देने वाले चैंपियनशिप मैचों में खेलना।

इंग्लिश क्रिकेट सीजन में खेलने का महत्व और फायदा तो अब ऑस्ट्रेलिया ने भी मानना शुरू कर दिया है। इसकी वजह है मार्नस लाबुशेन का कुछ ही दिन में उपयोगी से विश्व के टॉप बल्लेबाजों में से एक बनना। लाबुशेन पिछले सीजन में एशेज में बल्लेबाजी में चर्चा में आए पर एशेज में वे खेले चैंपियनशिप सीजन में ग्लेमोरगर के लिए 10 मैचों में 65.22 औसत से 1114 रन बनाकर। अब क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया खुद कोशिश कर रहा है अपने युवा क्रिकेटरों को कांउटी कॉन्ट्रैक्ट दिलाने की। आईपीएल से पैसा मिलता है, इंग्लैंड में क्रिकेट खेलने से खिलाड़ी मजबूत बनता है। पुजारा यही कर रहे हैं।

फ़ीचर क्रिकेट

मुश्किल सीरीज और हालात में विराट कोहली के बैट से रन नहीं बनेंगे तो टीम क्या करेगी?

CT Contributor Updated: 22 February, 2020, 2:49 PM IST

HIGHLIGHT

हर रिपोर्ट यही कह रही थी कि वेलिंग्टन के ठंडे और तेज हवा वाले मौसम में क्रिकेट खेलना आसान नहीं होता। ऐसे में टीम के टॉप बल्लेबाज को ही मिसाल बन कर खेलना पड़ता है। विराट कोहली तो भारत की टीम के ही नहीं विश्व के टॉप बल्लेबाज हैं (सबूत: टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 और नंबर 2 स्टीव स्मिथ से 17 अंक ऊपर)। ऐसे में कोहली ने क्या किया?

टेस्ट की पहली सुबह और कोहली 7 गेंद में 2 रन बनाकर आउट। भारत की 35-2 स्कोर कोहली के सामने चुनौती था टीम की पारी को संभालने के लिए। हुआ क्या? कोहली ने तो अपना पहला टेस्ट खेल रहे जैमिंसन को विकेट दे दिया। अगर अपना पहला टेस्ट खेल रहे गेंदबाज को इतना बड़ा विकेट मिल जाए तो करियर बन जाता है। दूसरी तरफ कोहली के नजरिए से देखें तो ये क्या नए गेंदबाज उन्हें आसानी से आउट कर रहे हैं? अभी कोहली के बोल्ड होने की चर्चा खत्म नहीं हुई कि लाल गेंद वाली क्रिकेट में भी उनका डिफेंस कमजोर पड़ गया। टीम ऐसे में कहां संभलती?

चिंता कोहली का महज 2 रन बनाना नहीं है क्योंकि अच्छा बल्लेबाज भी हर पारी में 50+ नहीं बना सकता, चिंता है कोहली का लगातार कोई बड़ा स्कोर न बनाना। न्यूजीलैंड टूर पर 4 टी20 में 125 रन और 3 वन डे में 75 रन उनकी प्रतिष्ठा से कतई मेल नहीं खाते। लगा था कि लाल गेंद वाली क्रिकेट एकदम नजारा बदलेगी पर उसमें भी हाल फिलहाल तो शुरूआत निराशा से ही हुई है। देखिए:

- न्यूजीलैंड टूर पर अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 8 पारी में सिर्फ 182 रन सिसमें 50 का सिर्फ एक स्कोर।

- अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पिछली 19 पारी में एक भी स्कोर 100 वाला नहीं। आखिरी 100 बनाया था, कोलकाता में बांग्लादेश के विरूद्ध डे-नाइट टेस्ट में।

- अगर 2019 के शुरू से टेस्ट रिकॉर्ड देखें तो 12 पारी में कोहली के दो स्कोर 254* एवं 136 हैं पर इनके अतिरिक्त 50+ के सिर्फ दो स्कोर, दो बार 0 पर आउट और दो बार 10 भी नहीं बनाए, तीन बार 20 को भी पार नहीं किया।

ऐसा नहीं है कि कोहली के बैट के शांत रहने का ये नजारा पहली बार देखने को मिला है। 2011 में फरवरी से सितंबर के बीच लगातार 24 पारी में कोहली ने 100 का एक भी स्कोर नहीं बनाया था। 2014 में फरवरी से अक्टूबर के बीच कोहली ने लगातार 25 पारी में 100 का एक भी स्कोर नहीं बनाया। फर्क ये है कि 2011 और 2014 की तुलना में आज विराट कोहली की बल्लेबाज के तौर पर प्रतिष्ठा में बड़ा फर्क है। नौबत ये आ गई है कि विदेशी मीडिया में स्टीव स्मिथ को उनसे बेहतर बल्लेबाज लिखने का सिलसिला शुरू हो गया है।

- 1 जनवरी 2019 से काहली ने वेलिंग्टन टेस्ट की पहली पारी तक टेस्ट क्रिकेट में 12 पारी में 614 रन बनाए पर इनमें से 390 रन तो 2 पारी में आए यानि कि बची 10 पारी में 224 रन। 15 से ज्यादा बल्लेबाज ने उनसे ज्यादा रन बनाए।

- 1 जनवरी 2019 से उनकी टेस्ट औसत 61.40 है पर इसमें से 254* का एक स्कोर निकाल दे तो औसत सिर्फ 36 रह जाती है।

- 1 जनवरी 2019 से दो या ज्यादा बार 0 पर आउट होने वाले 23 बल्लेबाजों (निम्नतम योग्यता: 200 रन) में कोहली के अतिरिक्त जो रूट, केन विलियमसन, डेविड वॉर्नर एवं डीन एल्गर ही बड़े नाम हैं।

एक ऐसे समय में जबकि खराब फिटनेस के कारण रोहित शर्मा भी टीम में नहीं है, टॉप गेंदबाज जसप्रीत बुमराह विकेट नहीं ले पा रहा तो कोहली की जिम्मेदारी और ज्यादा हो जाती है। उसी मुकाम पर उनका बैट धोखा दे रहा है। विराट कोहली जैसे बल्लेबाज के रन न बनाने के दौर से गुजरने की ढेरों मिसाल हैं और ये सिलसिला टूटेगा पर सवाल ये कि कब तक? तब तक भारत की टीम कितना नुकसान उठा चुकी होगी?

समाचार क्रिकेट

पाकिस्तान मेरी 'मदर लैंड' है, यहां खेलना मेरे लिए बहुत गर्व की बात - मोईन अली

Shadab Ali Updated: 22 February, 2020, 2:32 PM IST

HIGHLIGHT

इंग्लैंड के स्टार ऑलराउंडर मोईन अली ने कहा कि उनके लिए पाकिस्तान में आकर खेलना बहुत बड़ी बात है, जहां उनकी माता का जन्म हुआ था. ऐसे में अली ने पाकिस्तान में स्थित अपनी मां के घर जाने की भी उम्मीद जताई है. बता दें कि मोईन ने पाकिस्तान सुपर लीग 2020 (PSL) में मुल्तान सुल्तांस की तरफ से पदार्पण किया.

मोईन अली ने कहा, "पाकिस्तान में आना मेरे लिए बहुत बड़ी बात है. यहां मेरे दादा और मेरी मां का जन्म हुआ था. यह मेरे लिए गर्व की बात है. मैं इंग्लैंड में पैदा हुआ, लेकिन मैं पीओके में जाने की उम्मीद कर रहा हूं, जहां मेरे दादा और मां ने जन्म लिया. ये मेरे परिवार के लिए भी बहुत बड़ी बात है. मैं इसके लिए बहुत उत्साहित हूं."

उन्होंने आगे कहा, "यह वह धरती है जहां मेरी मां ने जन्म लिया और यहां आकर खेलना मेरे लिए बहुत बड़े गर्व की बात है. पीएसएल का हिस्सा बनना शानदार है."

गौरतलब है कि अंग्रेजी टीम के स्टार ऑलराउंडर मोईन अली ने हाल ही में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ संपन्न सीमित ओवरों की सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया था. उन्होंने टी20 सीरीज में विस्फोटक अंदाज़ में बल्लेबाजी करते हुए अपनी टीम की सीरीज जीत में अहम भूमिका निभाई थी.

 

समाचार क्रिकेट

भारत का मैच देखने न्यूजीलैंड पहुंचे क्रिस गेल, कैमरामैन ने किया स्पॉट!

Akashdeep Singh Updated: 22 February, 2020, 2:02 PM IST

HIGHLIGHT

भारत और न्यूजीलैंड के बीच वेलिंग्टन के बेसिन रिजर्व में खेले जा रहे पहले टेस्ट के दूसरे दिन कैमरामैन ने मैदान पर वेस्टइंडीज के स्टार बल्लेबाज क्रिस गेल को कैमरे में कैद किया. मैच के दौरान क्रिस गेल बेसिन रिजर्व की दर्शक दीर्घा में मौजूद थे. उन्हें मैदान में देखकर हर कोई हैरान था.

प्रशंसकों के मन में यही सवाल था कि आखिर क्रिस गेल न्यूजीलैंड में क्या कर रहे हैं? क्रिस गेल ने बात करने पर बताया कि कुछ प्रमोशनल इवेंट के चलते वो यहां पर हैं. गेल ने अपनी आगे की योजना पर बताया कि वो नेपाल में एवरेस्ट प्रीमियर लीग (Everest Premier League) खेलने जाएंगे, जो 29 फरवरी से शुरू हो रही हैं और फिर इसके बाद आईपीएल (IPL) की तैयारियों में जुट जाएंगे. फैंस को भी यह देखकर काफी अच्छा लगा कि अपने व्यस्त कार्यक्रम के बीच में भी गेल ने कुछ समय निकाला और मैच देखने के लिए बेसिन रिजर्व पहुंच गए.

दूसरे दिन के खेल की समाप्ति पर न्यूजीलैंड का स्कोर 5 विकेट के नुकसान पर 216 रन और उसने भारत पर 51 रन की बढ़त बना ली है. भारत ने पहली पारी में महज 165 रन बनाए थे.

समाचार क्रिकेट

भारतीय महिला टीम की 'विराट कोहली' है ये स्टार बल्लेबाज - स्कॉट स्टायरिस

Shadab Ali Updated: 22 February, 2020, 1:56 PM IST

HIGHLIGHT

न्यूजीलैंड के पूर्व दिग्गज ऑलराउंडर स्कॉट स्टायरिस ने सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना को भारतीय महिला क्रिकेट टीम का विराट कोहली बताया है. स्टायरिस ने कहा कि मंधाना की बल्लेबाजी शैली बिलकुल विराट कोहली जैसी है. गौरतलब है कि स्टार बल्लेबाज मिताली राज को पहले ही 'लेडी तेंदुलकर ऑफ इंडियन वीमेन टीम' का टैग मिल चुका है.

स्टायरिस ने कहा, "मंधाना भारतीय महिला टीम की विराट कोहली हैं. जैसे कि पूर्व विंडीज बल्लेबाज विव रिचर्ड्स ने क्रिकेट को बदला, उसी तरह से मंधाना को भी महिला क्रिकेट में बदलाव लाने के लिए याद किया जाएगा."

गौरतलब है कि मंधाना को आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जानी जाती हैं. फिलहाल, वे ऑस्ट्रेलिया में महिला टी20 विश्व कप में टीम इंडिया को अपनी सेवाएं दे रही हैं. बाएं हाथ की इस बल्लेबाज ने टीम इंडिया के लिए अभी तक 72 टी20 में 1677, 51 वन डे में 2025 और दो टेस्ट में 81 रन बनाए हैं. मंधाना ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 4 शतक और 30 अर्धशतक जड़े हैं.

इधर, महिला टी-20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम को मजबूत दावेदार के रूप में देखा जा रहा है. मैच से पहले ओपनर बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने यह कह कर टीम की तारीफ की कि हम सबसे खुश मिजाज हैं.