भारत की वजह से नहीं हो पा रहा है क्रिकेट का विकास- आईसीसी

भारत में किसी भी खेल के मुकाबले क्रिकेट की लोकप्रियता सबसे ज्यादा है। यहां लोग कहते हैं क्रिकेट उनके खून में बसा हुआ है, लेकिन हाल ही में आईसीसी ने इसी लोकप्रियता को क्रिकेट की तरक्की में रौड़ा बताया है।

जी हां, क्रिकेट को लेकर वैश्विक रणनीति पर काउंसिल के स्ट्रेटजी वर्किंग ग्रुप (एसडब्ल्यूजी) ने कहा है कि हर मामले में भारत पर अधिक निर्भरता की वजह से क्रिकेट का विकास नहीं हो रहा है। साथ ही क्रिकेट को ग्लोबल बनाने में मुश्किल हो रही है।

एसडब्ल्यूजी ने यह भी बताया है कि आईसीसी विश्व क्रिकेट के रेगुलेशन के लिए विशेष रूप से जिम्मेदार नहीं है क्योंकि खेल मैरीलेबोन क्रिकेट क्लब द्वारा तैयार कानूनों के माध्यम से शासित है। इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि भारत पर अधिक निर्भरता को कम करने के लिए आक्रामक विस्तार और विकास रणनीति की कमी है।

रिपोर्ट के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए एकता की कमी होने की वजह से भी खेल में बाधा आ रही है। इसी के साथ इंग्लैंड में होने वाली टी-10 लीग को क्रिकेट के लिए खतरा माना गया है। मगर उन्होंने यह भी स्वीकार किया है कि यह फॉर्मेट खेल को लोकप्रिय बनाने का मौका है।