कोहली के 100 हो गए 36 - ये गिनती कहां रूकेगी?

गुवाहाटी में विराट कोहली स्पैशल देखने का मौका मिला और भारत की जीत में जो 140 बनाए - ये 212 वनडे इंटरनेशनल में उनका 36वां शतक था। शतक के साथ जो खास रिकॉर्ड बनाए उन्हें देखिए -

-कप्तान के तौर पर 14 शतक- सिर्फ रिकी पोंटिंग (22) आगे।

-जीत के लिए दूसरी पारी खेलते हुए 20 शतक - सचिन तेंदुल्कर (14) दूसरे नंबर पर।

-नंबर 3 बल्लेबाज के तौर पर 29 शतक - रिकी पोंटिंग के बराबर।

जबकि चारों तरफ बात हो रही है इस गुवाहाटी स्पेशल शतक की बदौलत बनाए रिकॉर्ड की तो हम इसी रिकॉर्ड को अलग नजरिए से देखते हैं- अगर विराट कोहली इसी तरह से वनडे इंटरनेशनल में 100 बनाते रहे तो 100 की गिनती का सिलसिला 36 से बढ़ता हुआ कहाँ रूकेगा? इसका सही आंकलन बड़ा मुश्किल है क्योंकि भविष्य किसी ने नहीं देखा पर जो करियर सामने है उन्हें आधार बनाकर एक अनुमान तो लगा ही सकते हैं। ये सब निर्भर करेगा इस बात पर कि कोहली का करियर कितना लंबा चलेगा?

गुवाहाटी में विराट कोहली ने अपना 212वां वनडे इंटरनेशनल खेला। मैच की गिनती में 65 खिलाड़ी अभी कोहली से आगे हैं और टॉप पर सचिन तेंदुल्कर हैं 463 मैच के साथ। अगर यह मान लें कि कोहली भी सचिन के बराबर खेलेंगे तो मौजूदा प्रति वनडे 0.17 शतक की औसत के हिसाब से कोहली के शतक की गिनती 78 हो सकती है। सचिन ने 49 शतक बनाए हैं।

यह अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है कि हर खिलाड़ी के करियर में एक ऐसा दौर आता है जब वो वह टॉप पर होता है - उसी टॉप प्रदर्शन को लगातार जारी रखना आसान नहीं होता। इसलिए करियर का अलग-अलग अंदाज देखते हैं।

कोहली के नाम 212 मैच में 36 शतक हैं। अन्य बल्लेबाज करियर के इस मुकाम पर कहां थे? अपने पहले 212 मैच में कोई भी कोहली की बराबरी पर तो क्या कोहली के करीब भी नहीं था। हाशिम अमला 169 मैच में 26 शतक पर हैं, जबकि 212 मैचों तक एबी डि विलियर्स ने 24, सचिन तेंदुल्कर ने 21 और सईद अनवर, आर टेलर (204 मैच) सौरव गांगुली एवं क्रिस गेल ने 19-19 शतक बनाए।

इस संदर्भ में एक नाम का अलग से जिक्र जरूरी है। गुवाहाटी में रोहित शर्मा ने 189वें मैच में शतक नंबर 20 बनाया।

इसका मतलब है कि विराट कोहली तो पहले ही दिग्गजों से बहुत आगे निकल गए तो उनसे क्या तुलना करें? हाशिम अमला का वन डे इंटरनेशनल करियर आखिरी दौर में है और उनसे यह उम्मीद बेकार है कि वे बहुत आगे जाएंगे - अगर सचिन 212 मैच में 21 शतक से 463 मैच में 49 शतक पर पहुंच सकते हैं तो 212 में 36 शतक बनाने के बाद विराट कोहली कहां पहुंचेंगे इसका अंदाजा आसानी से लगा सकते हैं।

अपने पहले 100 मैच में कोहली ने 13 शतक बनाए थे - शिखर धवन और क्विंटन डी कॉक के बराबर तथा डेविड वॉर्नर (14) एवं हाशिम अमला (16) उनसे आगे थे। अगले 100 मैच यानि कि करियर में मैच नंबर 101 से 200 के बीच विराट कोहली ने 18 शतक बनाए - रोहित शर्मा ने 89 मेच में 18, डी विलियर्स ने 17 तथा सचिन तेंदुल्कर एवं आर टेलर ने 14-14 शतक। इससे अगले 100 मैच यानि कि करियर में मैच नंबर 201 से 300 के बीच सचिन तेंदुल्कर ने 15 और रिकी पोंटिंग ने 11 शतक बनाए, जबकि तिलकरत्ने दिलशान और सनथ जयसूर्या ने 9-9 शतक। इसकी तुलना में विराट कोहली ने सिर्फ 12 मैच में 5 शतक बना दिये हैं।

निश्चित रूप से विराट कोहली, जिस तेजी से वनडे में शतक बना रहे हैं वह आश्चर्यजनक है और अन्य किसी के करियर को आधार बनाकर कोहली के करियर का ग्राफ खींचना सही नहीं होगा। अगर कोहली फिट रहते हैं और क्रिकेट करियर से फोकस नहीं हटाते हैं तो 100 की गिनती का नया कीर्तिमान ज्यादा दूर नहीं।