आईपीएल 2018 प्लेऑफ में पहुंचने के लिए रोचक हुई जंग

आईपीएल 2018 अपने आखिरी पड़ाव पर है। सनराइजर्स हैदराबाद और चेन्नई सुपर किंग्स तो आखिरी 4 में पहुंच चुके हैं, जबकि दिल्ली डेयरडेविल्स के बाहर होने के बाद 5 टीमें प्लेऑफ के बाकी बचे 2 स्थान के लिए जूझ रही हैं। ये 5 टीमें हैं कोलकाता नाइट राइडर्स (14 अंक), मुंबई इंडियंस (12 अंक), राजस्थान रॉयल्स (12 अंक), किंग्स इलेवन पंजाब (12 अंक) और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (10 अंक)। तो इस प्रकार अब इन टीमों के जो बाकी लीग मैच बचे हैं, वे प्लेऑफ में पहुंचने के लिहाज से बेहद रोचक हो गए हैं।

सबसे पहले कोलकाता नाइट राइडर्स की बात करते हैं। फिलहाल इस टीम के 13 मैचों से 14 अंक हैं। इन्हें अपना आखिरी लीग मैच सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेलना है। यदि केकेआर यह मुकाबला जीत लेती है तो वह 16 अंकों के साथ आखिरी 4 में पहुंच जाएगी। यदि वह इस मैच को हार जाती है तो भी वे बाहर नहीं होंगे। हां, यह जरूर है कि फिर उनके 14 अंक ही रहेंगे और ऐसे में उनका शीर्ष 4 में पहुंचना इस बात पर निर्भर करेगा कि बाकी टीमों की क्या स्थिति रहती है। यदि मुंबई इंडियंस, किंग्स इलेवन पंजाब और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर या राजस्थान रॉयल्स के भी 14-14 अंक रहते हैं तो फिर यह देखा जाएगा कि किन 2 टीमों का रन रेट बेहतर है।

कल के मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को हराकर मुंबई इंडियंस ने भी प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए अपनी उम्मीदों को एक नई मजबूती दी है। फिलहाल 13 मैचों में उनके 12 अंक हैं और वे चौथे नंबर पर हैं। उनका आखिरी लीग मैच दिल्ली डेयरडेविल्स जैसी फिसड्डी टीम से है। बहुत संभव है कि मुंबई इंडियंस इस मैच को तगड़े अंतर से जीत ले। यदि ऐसा होता है तो फिर वे भी आखिरी 4 में पहुंच सकते हैं, बशर्ते कि उनका रन रेट अपने बराबर अंक वाली अन्य टीमों की तुलना में बेहतर हो। यदि वे इस मैच को हार भी जाते हैं तो भी उनके 12 अंक तो रहेंगे ही। ऐसे में यदि किंग्स इलेवन पंजाब और राजस्थान रॉयल्स अपने-अपने आखिरी लीग मैच हार जाते हैं और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर भी सनराइजर्स हैदराबाद से हार जाते हैं तो मुंबई इंडियंस, किंग्स इलेवन पंजाब, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और राजस्थान रॉयल्स के 12-12 अंक होंगे। ऐसे में अच्छे रन रेट के दम पर मुंबई इंडियंस प्लेऑफ में पहुंच सकती है।

राजस्थान रॉयल्स फिलहाल 13 मैचों में 12 अंकों के साथ पांचवें स्थान पर है। उसे अपना आखिरी लीग मैच रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के विरुद्ध खेलना है। शीर्ष 4 में पहुंचने के लिए उसे यह मैच अच्छे अंतर से जीतना ही होगा, साथ ही यह उम्मीद भी करनी होगी कि मुंबई इंडियंस और किंग्स इलेवन पंजाब के 14 अंक न हों। नहीं तो राजस्थान रॉयल्स टीम फिर प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो सकती है, क्योंकि उसका नेट रन रेट काफी खराब है।

अब किंग्स इलेवन पंजाब की बात करते हैं। इस टीम ने जो अपने शुरुआती मुकाबले खेले थे, उनमें बेहद शानदार प्रदर्शन किया था और ऐसा लगता था कि यह टीम प्लेऑफ के लिए सबसे पहले क्वालिफाई करने वाली टीम तो बनेगी ही, साथ ही शीर्ष 2 टीमों में भी रहेगी। इसके बाद जब ये एक के बाद एक कई मैच हार गए तो शीर्ष 2 तो दूर, प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई तक करना भी इनके लिए टेढ़ी खीर मालूम पड़ने लगा। कल मुंबई इंडियंस से हारने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब की प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदों को करारा झटका लगा है। अब इनका एक ही लीग मैच बचा है, जो कि चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ है। यह आईपीएल 2018 का आखिरी लीग मैच भी होगा। यदि किंग्स इलेवन पंजाब इस मैच को बड़े अंतर से जीत लेती है तो इनके 14 अंक हो जाएंगे। ऐसे में यदि ये अपने रन रेट को बेहतर बनाए रखते हैं तो बाकी टीमों की स्थितियों को देखते हुए शीर्ष 4 में पहुंचने की इनकी उम्मीदें कायम रहेंगी। यदि वे इस मैच को हार भी जाते हैं तो फिर यह जरूरी है कि मुंबई इंडियंस दिल्ली डेयरडेविल्स से बड़े अंतर से हार जाएं और राजस्थान रॉयल्स रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर से हार जाए। ऐसे में किंग्स इलेवन पंजाब, मुंबई इंडियंस, राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (यदि सनराइजर्स हैदराबाद को भी हरा देते हैं) के 12-12 अंक ही होंगे। तब नेट रन रेट के आधार पर फैसला होगा। हालांकि इस स्थिति में मुंबई इंडियंस के अवसर ज्यादा बेहतर नजर आते हैं।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के फिलहाल 12 मैचों में 10 अंक हैं। उनके जो 2 लीग मैच शेष बचे हैं, उनमें से एक सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ और एक राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ है। अपनी उम्मीदें जिंदा रखने के लिए विराट कोहली की टीम को सनराइजर्स हैदराबाद को हराना ही होगा, वह भी बड़े अंतर से। ऐसा नहीं होता है तो फिर वे प्लेऑफ की दौड़ से यहीं बाहर हो जाएंगे। यदि वे इस मैच को जीत लेते हैं तो भी वे प्लेऑफ में नहीं पहुंचेंगे। हां, उम्मीदें जरूरी कायम रहेंगी। तब अगले मैच में राजस्थान रॉयल्स को तगड़े अंतर से हराकर वे इस टीम को तो टूर्नामेंट से बाहर कर ही देंगे, साथ ही उनके अंक भी 14 हो जाएंगे। ऐसे में यदि मुंबई इंडियंस दिल्ली डेयरडेविल्स से हार जाए, जबकि किंग्स इलेवन पंजाब चेन्नई सुपर किंग्स से हार जाए (जीते भी तो ज्यादा बड़े अंतर से न जीते) तो रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर प्लेऑफ में पहुंच जाएगी, बशर्ते कि किंग्स इलेवन पंजाब के जीतने की स्थिति में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का रन रेट उनसे बेहतर हो।

बाकी बचे 6 लीग मैचों में यदि कोई मैच बारिश के कारण अधूरा रहता है तो फिर नए सिरे से देखना होगा कि किस टीम की क्या स्थिति है।