अगर आईपीएल में गरजा इन खिलाड़ियों का बल्ला तो राष्ट्रीय टीम में हो जाएगी वापसी

आईपीएल ना सिर्फ युवा खिलाड़ियों के लिए बड़ा प्लेटफॉर्म है बल्कि, वो अनुभवी खिलाड़ी जो खराब प्रदर्शन के चलते टीम से बाहर चल रहे हैं उनके लिए भी आईपीएल ऐसा मंच है जंहा अपने बल्ले की धाक जमाकर वो नेशनल टीम में वापसी का अपना सपना पूरा कर सकते हैं। आइए हम आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ खिलाड़ियों के बारे में जो इस बार आईपीएल के 11वें सीजन में अपने जौहर दिखाने को बेताब हैं।

युवराज सिंह- खराब फॉर्म के चलते आईपीएल नीलामी में भी युवराज सिंह में किसी फ्रेंचाइजी ने कुछ खास दिलचस्पी नहीं दिखाई। युवराज को किंग्स इलेवन पंजाब ने उनकी बेस प्राइज 2 करोड़ में खरीदा। युवराज सिंह की टीम इंडिया में वापसी की उम्मीद ना के बराबर है। सैयद मुश्ताक अली क्रिकेट टूर्नामेंट भी युवराज का प्रदर्शन का कुछ खास नहीं रहा। 9 मैचों में उन्होंने सिर्फ 208 रन बनाए। यहां तक पंजाब के सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर होने की बड़ी वजह भी युवराज की धीमी बल्लेबाजी को बताया गया। लेकिन इन सभी नाकामियों को पीछे छोड़ते हुए युवराज के पास बड़ा मौका है कि वो अपनी आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब के लिए अच्छा प्रदर्शन करें ताकि छोटे फॉर्मेट में एक बार फिर वो टीम इंडिया में वापसी कर सकें।

ग्लेन मैक्सवेल- ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर ग्लैन मैक्सवेल को दिल्ली डेयरडेविल्स ने 9 करोड़ में अपने साथ जोड़ा। मैक्सवेल इस समय ऑस्ट्रेलिया की वनडे टीम से बाहर चल रहे हैं। लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 मैच उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया। मैक्सवेल ने हाल ही में टी-20 क्रिकेट का सबसे तेज शतक जड़ा। उन्होंने महज 58 गेंदों में 103 रन की पारी खेली। उनकी कोशिश होगी कि आईपीएल में भी अपनी इसी लय को बरकरार रखें ताकि जल्दी ही ऑस्ट्रेलिया की वनडे टीम में वापसी कर पाएं।

सुरेश रैना- सुरेश रैना ने एक साल से ज्यादा समय बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए टीम इंडिया में वापसी की है। उन्होंने अपना आखिरी वनडे मैच 25 अक्तूबर 2015 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मुंबई में खेला था। जबकि आखिरी टी-20 1 फरवरी 2017 को इंग्लैंड के खिलाफ खेला था।

रैना ने हाल ही में सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन कर चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी ओर खींचा था। सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूर्नामेंट में रैना ने उत्तर प्रदेश की तरफ से खेलते हुए बंगाल के खिलाफ महज 49 गेंदों में ही शतक जड़ा था। जाहिर है रैना की फॉर्म में वापसी तो हो चुकी है अब वो आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के तरफ से खेलते हुए भी ऐसा ही दमदार प्रदर्शन करना चाहेंगे ताकि जल्द-जल्द वनडे टीम में भी वापसी कर सकें।

गौतम गंभीर- IPL के इस सीजन में गौतम गंभीर दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेलते नजर आएंगे। उन्हें दिल्ली ने 2.8 करोड़ रुपये में अपने साथ जोड़ा। इससे पहले गौतम गंभीर बीते 7 सीजन से कोलकाता नाइट राइडर्स का हिस्सा थे। आईपीएल में केकेआर की ओर से गंभीर का प्रदर्शन अच्छा रहा है। अब दिल्ली के लिए भी वो इसी प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे। 36 साल के गंभीर ने अभी भी टीम इंडिया में वापसी की उम्मीद नहीं छोड़ी है। उन्होंने अपना आखिरी वनडे जनवरी 2013 और आखिरी टी-20 मैच साल 2012 में खेला था।

ऐसे में आईपीएल में खुद को साबित कर गंभीर के पास टीम इंडिया में वापसी का मौका है। इसके लिए उन्हें अपनी फॉर्म के साथ-साथ फिटनेस लेवल का स्तर भी ऊंचा रखना होगा।

आर अश्विन- आर अश्विन एक समय भारत के तीनों फॉर्मेट के सबसे अहम खिलाड़ी थे। लेकिन अश्विन को जब एक बार भारतीय वनडे टीम से आराम दिया गया, इसके बाद तो वो लिमिटेड ओवर्स के फॉर्मेट में वापसी ही नहीं कर पाए है। युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने टीम में जगह बनाने के बाद लिमिटेड ओवर्स के फॉर्मेट में अपनी जगह पक्की और अश्विन की छुट्टी कर दी। लेकिन अब अश्विन भी अब रिस्ट स्पिनर बनने की तैयारी कर रहे हैं। अश्विन ने इसे फेंकने की शुरुआत भी कर दी है और वो आईपीएल तक पूरी तरह से इसे सीख लेंगे।

अश्विन ने अपना आखिरी वनडे जून 2017 और आखिरी टी-20 जुलाई 2017 में खेला था। तब से वो टीम से बाहर चल रहे हैं अब देखना होगा अश्विन अपने इस नए हथियार का इस्तेमाल कर आईपीएल में अपने प्रदर्शन से क्या चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी ओर खींच पाएंगे।