इंग्लैंड ने पहले वनडे में ऑस्ट्रेलिया को दी तीन विकेट से मात

बॉल टेंपरिंग केस के बाद पहली बार स्टीव स्मिथ और वॉर्नर के बिना वनडे मैच खेलने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम को इंग्लैंड के हाथों तीन विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया की कमर मोइन अली ने शुरुआती तीन विकेट लेकर तोड़ दी थी और रही सही कसर बाद में प्लंकेट ने पूरी की।

टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम 47 ओवर में 214 रन बनाकर ढेर हो गई। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से ग्लेन मैक्सवेल ने सर्वाधिक 62 रन बनाए जबकि एश्‍टन एगर ने 40 रन का योगदान दिया। वहीं इंग्लैंड की ओर से प्‍लंकेट ने 8 ओवर में 42 रन देकर 3 जबकि स्पिनर मोइन अली ने 10 ओवर में 43 रन देकर 3 विकेट लिए।

215 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। टीम के ओपनर जेसन रॉय इनिंग की दूसरी गेंद पर बिना खाता खोले आउट हो गए। इसके बाद एलेक्स हेल्स भी 5 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। शुरुआती दो झटके लगने के बाद ओपनर जॉनी बैरस्टो ने जो रूट के साथ पारी को संभालना चाह, लेकिन वो ज्यादा देर रूट का साथ नहीं दे पाए और 28 के निजी स्कोर पर आउट हो गए।

उस समय लग रहा था कि ऑस्ट्रेलिया की टीम ने अच्छी वापसी की है, लेकिन कप्तान इयोन मोर्गन के साथ मिलकर जो रूट ने ऑस्ट्रेलिया की सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। रूट और मॉर्गन के बीच 115 रनों की साझेदारी हुई। टीम मजबूत स्थिती में थी, लेकिन 29वें ओवर की 5वीं गेंद पर मॉर्गन (69) एंड्र्यू टाय का शिकार बन गए। इसके बाद बटलर(9) और रूट(50) भी अपने विकेट को संभालने में नाकामयाब रहे। एक बार फिर गेंद ऑस्ट्रेलिया के पाले में आ गिरी थी, लेकिन डेविड विली ने 41 गेंदों पर 35 रनों की पारी खेल अपनी टीम को मैच जिताया। इस मैच में मोइन अली को मैन ऑफ द मैच के अवॉर्ड से नवाजा गया।